संदेश

February, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

जनता पर शासक के अधिकार

समाज और समुदाय का वातावरण उसी समय मेल मिलाप से रहेगा, शांतिपूर्ण होगा, अमन औरसुकून से रहेगा जब समाज के जीवन व्यवस्था का जिम्मेदार एक न्यायिक व्यक्ति हो, अल्लाह से भय खाने वाला व्यक्ति हो, अपने प्रत्येक कर्म पर अल्लाह को निगरां समझता हो, समाज की जिम्मेदारी को सेवा समझता हो और केवल अपने पेट भरने का माध्यम न समझता हो, तब ही वह अच्छे तरीके से समाज की सेवा कर सकेगा, इसी लिए तो अल्लाह तआला ने इस्लाम धर्म के प्रचार और स्पष्टीकरण के लिए प्रत्येक काल और समाज में उसी समुदाय में से एक सब से उत्तम व्यक्ति को नबी और रसूल नियुक्त करता था और सब से अन्तिम में मुहम्मद को सारे युग और संसार के लिए अन्तिम संदेष्ठा के रूप में अरब देश में भेजा और इस्लाम धर्म के प्रचार और उसकी शिक्षा देने का जिम्मेदारी दी जिसे मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने बहुत सुन्दर और उत्तम तरीके से अदा कर दिया और अल्लाह के एक एक आदेश तथा आज्ञा को लोगों तक पहुंचा दिया, जिस में दुनिया और आखिरत (पारलोक) के प्रत्येक चीज़ो के बारे में स्पष्ट कर दिया गया है। जो व्यक्ति इस दुनिया में जैसा कर्म पेश करेगा, उसका वैसा फल आखिरत में पाएगा, इ…